धोनी को भगवान मानते हैं ये 4 भारतीय गेंदबाज और करते हैं धोनी पूजा, माही ने दिलाई है शौहरत और नाम..

साल 2007 में धोनी को ट्वेंटी 20 में कप्तान बनाया गया था. इस समय इन्डियन टीम ने एक ही ट्वेंटी 20 मैच खेला था.एक नए कप्तान के हाथों में नई टीम दी गयी थी. धोनी के पास भी उस समय कोई खास अनुभव नहीं था.  इसके बाद भी धोनी ने टीम इण्डिया की सफल ता की नई कहानी लिख दी थी. तो आइये आपको आज हम बताते हैं कि धोनी ने किन 4 नए और तेज गेंदबाजों के दम पर चमत्कार करके दिखाया था-महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी….

धोनी ने जोगिंदर शर्मा को वाकई मालामाल बनाया है. शायद धोनी की जगह 2007 ट्वेंटी 20 विश्वकप में कोई और कप्तान होता तो वह मिसबाह उल हक के सामने जोगिंदर शर्मा को गेंदबाजी नहीं दी जाती. लेकिन धोनी ने दिमाग से नहीं बल्कि दिमाग से काम लिया.  अज भी जोगिंदर माही भाई को धन्यवाद जरुर बोलते होंगे.

आस्ट्रेलिया के घर में उनको हराया और प्रवीण कुमार को दिलाया सही मौका


प्रवीण कुमार, इस तेज गेंदबाज के ऊपर भी इस समय किसी की निगाह नहीं थी. टीम का जब सलेक्शन हुआ था तो शायद ही कोई प्रवीण कुमार को लेकर इतना विश्वास में था. लेकिन आस्ट्रेलिया को उसके घर में घुसकर धोनी एंड टीम ने हराया था और इस टीम में प्रवीण कुमार एक अच्छा नाम निकलकर आया था.

एस श्रीसंत को भी धोनी ने बनाया है

वहीँ धोनी ने एस श्रीसंत को भी टीम इण्डिया में मौका दिलाया था. ट्वेंटी 20 विश्वकप में 2007 के अंदर भी धोनी ने इस गेंदबाज को मौका दिलाया था.

भुवनेश्वर कुमार पूजते हैं धोनी को

वहीँ भुवनेश्वर कुमार को टीम में लाने वाले धोनी ही हैं. भुवनेश्वर एक छोटे से परिवार से ताल्लुक रखते हैं और इस गेंदबाज के भगवान भी धोनी ही रहे हैं. धोनी ने वाकई इन्डियन टीम को एक अच्छा तेज गेंदबाज दिया है.तो इन 4 गेंदबाजों को धोनी ने बनाया है. धोनी की कप्तानी में इन गेंदबाजों को मौका दिया गया