जी हाँ ये हैं दुनिया की टॉप 5 खूबसूरत महिला किक्रेटर्स, विराट और जडेजा को कर चुकीं हैं प्रपोज़!

ऐसा समय जिस दौरान पुरुष बल्लेबाजों के चरचे हर जगह हो रहे हैं उस दौरान इंग्लैंड में हुए इस महिला विश्व क्रिकेट कप में महिलाओ ने अपनी बेहतरीन क्षमता दिखाई और ये साबित कर दिया कि वो किसी भी मामले में पुरुषों से कम नही हैं ,पर आज हम इन महिला क्रिकेटर की शमता की नहीं बल्कि इनकी खूबसूरती की बात करने जा रहे हैं ।जी हाँ आज हम आप को कुछ ऐसी खूबसूरत महिला क्रिकेटरों के बारे में बताने वाले हैं जो की खूबसूरती के मामले में किसी भी हीरोइन से कम नहीं हैं ।

लॉरा मार्स

 

आप की जानकारी के लिए बता दे की लॉरा मार्स इंग्लैंड की खिलाड़ी हैं ।लॉरा ऑफ स्पिनर हैं और वह अपने इस हुनर में इतने तेज हैं की उनके आगे कोई भी बड़ा बल्लेबाज लम्बे समय तक नहीं टिक पाता हैं । बतां दे की लॉरा ने साल 2006 में भारत के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया था।

ऐलिसे पेरी

 

ऐलिसे पेरी ऑस्ट्रेलिया की तरफ से खेलती हैं बता दे की इनके खेल के साथ साथ इनकी खूबसूरती के भी काफी चर्चें हैं ।ऐलिसे करीब 16 साल की उम्र से क्रिकेट और फुटबॉल खेल रही हैं ।बता दे की ऐलिसे ऑस्ट्रेलिया के लिए अंतरास्ट्रीय स्तर पर फुटबॉल और क्रिकेट दोनों ही खेल चुकी हैं ।मिताली राज

मिताली राज

 

मिताली राज को कौन नहीं जानता। वो काफी समय से भारतीय महिला टीम के लिए खेल रही हैं और उसकी कप्तान हैं। आपको बता दें कि मिताली महिला अंतराष्ट्रीय किक्रेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली पहली क्रिकेटर हैं। उनकी ही कप्तानी में भारत इस साल फाइनल में पहुंचा था।

सारा जेन टेलर

 

सारा इतनी खूबसूरत हैं की खेल से ज्यादा लोगो में उनकी खूबसूरती के चर्चें हुआ करते हैं ।बता दे की सारा इंग्लैंड की और से खेलती हैं और अभी हाल ही में विस्वा कप के दौरान इनकी खूबसूरती के काफी चर्चें भी हुए थे । साल 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू करने वाली सारा ने साल 2009 में 120 रन कि एक शानदार पारी खेली थी।

हॉली फर्लिग

 

हॉली फर्लिग ऑस्ट्रेलिया के लिये खेलती हैं। हॉली ने साल 2013 में ऑस्टेलिया कि महिला टीम की ओर से अपना पहला डेब्यू मैच खेला था। हॉली एक दायें हाथ की मध्यम तेज गति की गेंदबाजी हैं। आपको बता दें कि साल 2013 में महिला क्रिकेट विश्वकप के दौरान हॉली ने शानदार प्रदर्शन करते हुए पूरे टूर्नामेंट में 10.55 के औसत से 9 विकेट लिये थे और टीम के लिए काफी अच्छा प्रदर्शऩ किया था।