अगर आप हैं क्रिकेट प्रेमी तो भारतीय क्रिकेट के ये 10 इत्तेफाक मत भूलिएगा.. देखिये !

सचिन और कोहली

28 दिसंबर, 1999 को सचिन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ, पांचवें टेस्ट मैच में, मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर उन्नीसवीं पारी में 1,000 रन पूरे किए थे। सचिन की राह पर चलते हुए 15 साल बाद विराट कोहली ने भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ, पांचवें टेस्ट में, मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर उन्नीसवीं पारी में 1,000 रन पूरे किए..।

रवि शास्त्री और युवराज सिंह

1985 में टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज रवि शास्त्री ने फर्स्ट क्लास मैच में 6 गेंदों में 6 छक्के मारने का कीर्तिमान बनाया था। 22 साल बाद T20 वर्ल्डकप 2007 में युवराज सिंह ने 6 गेंदों में 6 छक्के लगाए ।इत्तेफाक की बात है जिस मैच में युवराज ने कीर्तिमान बनाया, उस मैच में कमेंट्री रवि शास्त्री ही कर रहे थे।

दोहरा शतक और इंडिया की जीत

टीम के तीनो खिलाड़ियों ने जब 200 का आकड़ा पार किया था तब तीनो बार टीम इंडिया 153 रनो से मैच जीती थी ।

इंडिया और T20 फॉर्मेट

ICC द्वारा जब T20 फॉर्मेट जारी किया गया था, तब पूरी दुनिया में इसे काफी पसंद किया गया था। सिर्फ भारत ऐसा देश था जो इस फॉर्मेट के खिलाफ था। IPL आज दुनिया की सबसे सफल क्रिकेट लीग्स में से एक है।

सचिन और सहवाग

क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर पहले ऐसे बेट्समैन हैं जिन्होंने वनडे मैच में दोहरा शतक जमाया।सचिन के बाद सहवाग ने 219 रन की पारी खेली और खुद को सचिन का जुड़वाँ साबित किया।

महेंद्र सिंह धोनी और पाकिस्तान

महेंद्र सिंह धोनी अपना पहला टेस्ट और वनडे शतक पाकिस्तान के Opposite लगाया था। ताज्जुब की बात है कि दोनों पारियों में उन्होंने 147 रन बनाए और दोनों पारियों में 4 छक्के लगाए।

99वें मैच में दोहरा शतक

सुनील गावस्कर ने वेस्टइंडीज के Opposite अपने 99वें मैच में 236 रन नाबाद, सौरव गांगुली ने पाकिस्तान के Opposite 239 रन और वीवीएस लक्ष्मण ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नाबाद 200 रन बनाए थे।

1983 के हीरोज

साल 1983 में जब टीम इंडिया ने वर्ल्डकप जीता था तब दिलीप वेंगसरकर, के.श्रीकांत और संदीप पाटिल उस विजेता टीम के हीरोज में से एक थे।  वेंगसरकर के द्वारा सिलेक्ट की गई टीम ने भारत को 2007 T20 वर्ल्डकप, श्रीकांत के द्वारा सिलेक्ट की गई टीम ने 2011 ODI वर्ल्डकप और पाटिल के द्वारा सिलेक्ट की गई टीम ने 2013 में ICC चैंपियंस ट्रॉफी जिताई है।